fbpx

हर बार शारीरिक संबंध के दौरान कॉन्डम का उपयोग बहुत ज़रूरी है। यह सुरक्षित सेक्स का सबसे ज़रूरी नियम है। फिर भी, कई बार आप सुनते हैं कि कॉन्डम मेरे लिए सही नहीं और यह कहने वाले खुद को और अपने पार्टनर को खतरनाक एसटीआई रोगों के खतरे में डाल देते हैं। हालाँकि हम यह मानते हैं कि कॉन्डम का खिसक जाना, फट जाना या ठीक से पेनिस पर नहीं चढ़ना मूड किलर हो सकता है। लेकिन दिक्कत इस सुरक्षा में नहीं इसके चुनाव में है। क्या आपने कभी सोचा है कि ‘सही कॉन्डम का चुनाव कैसे करें?’ इस गाइड में हम उस रहस्य को समझने की कोशिश करेंगे।

पुरुषों के लिए

सही कॉन्डम का चुनाव इस बात पर निर्भर करता है कि आप इससे चाहते क्या हैं? ये कुछ चीज़ें जो दिमाग में रखनी ज़रूरी हैं:

साइज़ मैटर करता है 

कॉन्डम का ठीक से फिट नहीं आना पुरुषों की सबसे आम समस्या है। खरीददारी करते इस बात का ध्यान रखें कि एक ही साइज़ सबको फिट नहीं आता। कॉन्डम चुस्त फिटिंग, रेगुलर और बड़े आकार में उपलब्ध है। कौन सा साइज़ आपको फिट आएगा इसके लिए अपने पेनिस को उसके टिप से अंत तक नापें और और उसकी मोटाई भी जो सामान्यतः मध्य में होती है, सुनिश्चित करें। 

7 से 7.5 इंच लंबाई और 4.7 इंच की मोटाई के लिए स्नग या चुस्त फिटिंग कॉन्डम उपयुक्त रहेगा। 

7.5- 8 इंच लंबाई और 4.7 और 5.1 मोटाई के लिए रेगुलर फिट उपयुक्त होगा।  

8 इंच से बड़ी लंबाई और 5.1 से अधिक मोटाई के लिए बड़े आकार के कॉन्डम उपयुक्त रहेंगे। 


कॉन्डम ज़्यादातर लैटेक्स से बने होते हैं। हालाँकि कुछ लोग इससे अलर्जिक होते हैं। अगर यह आप और आपके पार्टनर पर भी लागू होता है या फिर आप किसी ऐसे पार्टनर के साथ पहली बार जा रहे हैं जिसके बारे में आपको ज्यादा पता नहीं है तो पॉलिसोप्रेन, पॉलियूरिथेन या लैंबस्किन से बना कॉन्डम इस्तेमाल करें। 

आप क्या चाहते हैं? 

आप कॉन्डम को सिर्फ़ एक सुरक्षा कवच के तौर पर इस्तेमाल करना चाहते या कि इसके माध्यम से आप अपना आनंद भी बढ़ाना चाहते हैं? क्या आप इसे सिर्फ़ अपने आनंद के लिए या अपने पार्टनर के आनंद के लिए भी इस्तेमाल करना चाहते हैं या फिर दोनों के? इन सभी जरूरतों के अनुसार आप अलग अलग स्टाइल के कॉन्डम इस्तेमाल कर सकते हैं:

रेगुलर, थिन या अल्ट्रा थिन -अगर आप सिर्फ़ सुरक्षा चाहते हैं। 

टेक्सचर्ड, रिब्ड, वाइब्रेटिंग- अगर आप अधिक आनंद चाहते हैं। खासकर दोनों ही पार्टनर के लिए। 

स्ट्रॉंग या स्पर्मीसाइड -अगर आप प्रेग्नेंसी के खतरे से डबल सुरक्षा चाहते है। 

डिसेंसेटाइजिंग – जल्द होने वाले ऑर्गेज्म को रोकने के लिए। 

फ्लेवर युक्त- अगर आप ओरल सेक्स चाहते हैं। 

स्त्रियों के लिए 

कॉन्डम उन कुछ प्रोडक्ट में से है जहाँ स्त्रियों के लिए कम ऑप्शन हैं और पुरुषों की तुलना में चयन आसान है। फ़ीमेल कॉन्डम हर किसी के लिए एक ही साइज़ में उपलब्ध है इसलिए कोई नाप आदि लेने की यहाँ आवश्यकता नहीं है। 

वे दो तरह से बने होते हैं -लैटेक्स और सिन्थेटिक नीट्राइल। अगर आपको एक से एलर्जी है तो आप दूसरा इस्तेमाल कर सकते हैं।

अब तक फ़ीमेल कॉन्डम को एनल सेक्स के लिए सुरक्षित नहीं माना गया है। अगर आप या आपके पार्टनर इसका आनंद उठाना चाहते हैं तो आपको सुरक्षित सेक्स का कोई और तरीका इस्तेमाल करना होगा। 

क्या किसी दवा की दुकान पर खड़े होकर ये सारे पॉइंट्स ध्यान में रखकर कॉन्डम का चुनाव आसान काम नहीं है। तो हम आपको यह सलाह देंगे कि पहले आप इंटरनेट पर इस बारे में अच्छे से रिसर्च करें कि आपके लिए कौन सा ब्रांड सही होगा। फिर या तो आप अपने द्वारा चुने गए ब्रांड को ऑनलाइन मँगवा सकते या किसी मेडिकल स्टोर कर जाकर तुरंत खरीद सकते हैं।  

healthguru
Author

Write A Comment