fbpx

वे महंगे नहीं हैं, वे कई आकार, रंग और फ्लेवर में उपलब्ध हैं। वे आपको किसी भी अनचाही स्तिथियों में पड़ने से बचाते हैं। और वो आपके सबसे अतरंग पलों के साथी हैं। 

हाँ, आपने सही अंदाज़ा लगाया। हम कॉन्डम और उससे होने वाले लाभ की बात कर रहे। दरअसल कॉन्डम आपके दोस्तों की तरह हैं – वे आपको मुश्किल समय में सुरक्षा देते हैं। आइए कॉन्डम के कुछ और लाभ जानते हैं । 

कॉन्डम एक, मज़ा अनेक 

वे दिन चले गए जब कॉन्डम बोरिंग हुआ करते थे और सिर्फ़ कुछ नामों, जैसे निरोध आदि, के नाम से मिला करते थे। अब बाज़ार में उपलब्ध विकल्पों पर नज़र दौड़ाएं  – कामसूत्र, मूड्स, स्कोर, ड्यूरेक्स, कोहिनूर और इस तरह के कई और सेक्सी नाम और ब्रांड। 

हमारे पास चुनने के लिए पूरा खजाना है – रिब्ड और डॉटेड, हॉट और कोल्ड, चॉकलेट और स्ट्रॉबेरी यहाँ तक कि मिंट फ्लेवर भी। देसी पसंद वालों के लिए काला खट्टा, मीठा पान या चिकन टिक्का फ्लेवर भी उपलब्ध है। 
कई पुरुषों का यह मानना है कि कॉन्डम लगा कर सेक्स करने से वह त्वचा के स्पर्श का आनंद नहीं ले पाते। तो अब कॉन्डम कंपनियों ने उनकी इस शिकायत को बहुत संजीदगी से लिया है और वे इस तरह के उत्पादों के साथ बाज़ार में उतरे हैं जो बहुत ही पतले, ना के बराबर या त्वचा के स्पर्श जैसा महसूस कराते हैं। और लड़कियों अगर तुम्हें कॉन्डम के साथ सेक्स मे दर्द हो रहा तो शायद तुम सही चीज़ इस्तेमाल नहीं कर रही हो। 

अब बाजार में ऐसे हॉट, सेक्सी कॉन्डम मौजूद हैं जो आपको इसे इस्तेमाल करने का मूड दे देंगे। 

नो चिपचिप 

इस बात में कोई दो राय नहीं कि  सेक्स का अनुभव बहुत ही आनंद भरा है लेकिन सेक्स के बाद के घिनापन का क्या? बिना कॉन्डम के सेक्स के बाद निकलने वाला सीमेन बहुत ही चिपचिपा और असहज करने वाला अनुभव है। 

सेक्स के बाद एक दूसरे से लिपटने, बतियाने और प्यार से सहलाने के बजाए आप बाथरूम की ओर भागते हैं ताकि सफाई कर सकें। यह संघर्ष बहुत बड़ा है और आप तुरंत हकीकत की दुनिया में लौट आते हैं। 

हालाँकि जब आप कॉन्डम इस्तेमाल करते हैं तो सब कुछ एकदम बदल जाता है। सिर्फ़ आपको एक अच्छे, पारदर्शी दोस्त का इंतजाम करना है, सेक्स के बाद उसे पेपर में लपेटना है और डस्टबिन में डाल देना है। कोई घिनापन नहीं, सिर्फ़ सेक्स। 

कोई गुड न्यूज़ नहीं 

यह बहुत आसान है। इसका इस्तेमाल करने से आपको अनचाही प्रेग्नेंसी से छुटकारा मिलता है। अनचाही प्रेग्नेंसी से छुटकारा दिलाने में कॉन्डम 98 प्रतिशत सफल है। हालाँकि अब स्त्री -पुरुषों के लिए बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं, आप इससे सहमत होंगे कि कॉन्डम उनमें सबसे ऊपर है। वे आसानी से उपलब्ध हैं और उनका कोई साइडइफेक्ट भी नहीं। प्रेग्नेंसी का डर नहीं होना मतलब बढ़िया सेक्स। 

कोई साइड इफेक्ट नहीं

दूसरे बर्थ कंट्रोल उपायों की तरह जो हार्मोनल (बर्थ कंट्रोल पिल, इंजेक्शन) या इंवेसिव (इंट्रायूट्रीन डिवाइस, आईयूडी ) के कई साइडइफेक्ट हो सकते हैं जैसे हार्मोनल असंतुलन, या शरीर के प्राकृतिक चक्र में बदलाव आदि, कॉन्डम बिल्कुल सुरक्षित हैं। 

साथ ही इसका इस्तेमाल रोकते ही कभी भी प्रेग्नेंट हुआ जा सकता है लेकिन दूसरे उपायों के साथ हमेशा यह बात नहीं होती है। शरीर को उसके प्राकृतिक संतुलन में लौटने में समय लग जाता है।  

एसटीडी नहीं 

कॉन्डम सिर्फ़ आपको अनचाही प्रेग्नेंसी से ही नहीं रोकता  वे जीवन भी बचाते हैं। वे आपको सेक्सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों और इन्फेक्शन से बचाते हैं (एसटीडी, एसटी आई)

जब आप अपने साथी के साथ अनचाहा सेक्स करते हैं, आप खुद को एसटीडी/एसटीआई (एच आई वी सहित) के खतरे में डालते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि कॉन्डम एकमात्र बर्थ कंट्रोल उपाय है जो एसटीडी रोकता है। 

सबसे मज़ेदार बात है कि कॉन्डम हर तरह के सेक्स टाइप में इस्तेमाल किया जा सकता -ओरल, वेजाइनल, या एनल टाइप। आप कहीं भी कभी भी इसका इस्तेमाल करें, यह आपको सुरक्षित रखेगा। 

healthguru
Author